Blockchain kya hai | What is Blockchain Technology in hindi

Blockchain kya hai, What is Blockchain Technology in hindi, Blockchain in hindi, ब्लॉकचैन क्या है, Blockchain का अविष्कार किसने और कब किया, Blockchain technology की आवश्यकता, लाभ, भविष्य, उपयोग, Blockchain technology कितना शुरक्षित है?

क्या आप जानना चाहते हैं की Blockchain technology kya hai और इस technology का अविष्कार किसने किया था, तो इस आर्टिकल में बने रहिये।

अभी के समय आपने एक क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन के बारे में जरूर सुना होगा बिटकॉइन को लेकर लोगों को बहुत ज्यादा उम्मीद है क्योंकि बिटकॉइन की कीमत प्रति दिन बढ़ती जा रही है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस क्रिप्टोकरंसी के पीछे कौन सी टेक्नोलॉजी होती है? अगर आप जानना चाहते हैं कि बिटकॉइन के पीछे की टेक्नोलॉजी क्या है तो इस आर्टिकल Blockchain kya hai के साथ अंत तक बने रहे।

आज इस आर्टिकल Blockchain kya hai के जरिए हम आपको ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से संबंधित सभी चीजें जैसे ब्लॉकचेन क्या है, ब्लॉकचेन का आविष्कार किसने किया था, यह टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है और ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के बारे में कुछ जरूरी चीजें के संबंध में विस्तार से जानकारी देंगे।

Bitcoin Cryptocurrency के पीछे लगी हुई टेक्नोलॉजी को ब्लॉकचेन कहते है इस टेक्नोलॉजी के विषय में Experts का मानना है कि आने वाले समय में यह टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से आगे बढ़ेगी।

Cryptocurrency क्या है और सबसे पोपुलर क्रिप्टो करेंसी कौन सी है, पूरी जानकारी

आज इस आर्टिकल Blockchain kya hai के जरिए हम आपको ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से संबंधित सभी चीजें जैसे ब्लॉकचेन क्या है, ब्लॉकचेन का आविष्कार किसने किया था, यह टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है और ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के बारे में कुछ जरूरी चीजें के संबंध में विस्तार से जानकारी देंगे।

Blockchain technology kya hai
Blockchain-kya-hai-hindi
Table Of Contents Hide

Blockchain kya haiब्लाकचैन क्या है? (What Is Blockchain Technology in hindi?)

ब्लॉकचेन बेसिकली 1 डिजिटल लॉकर होता है जहां पर क्रेडिट और डेबिट ट्रांजैक्शन से संबंधित अकाउंट रखे जाते हैं यह एक ऐसी Digital बुक है जहां पर सभी Original Entry रखी जाती है।

इसे हम आपको आसान शब्दों में एक उदाहरण के द्वारा समझाते हैं- मान लीजिए की आपके कंप्यूटर में आपके पास एक फाइल ऑफ ट्रांजैक्शन है और सरकारी खातों के पास बिल्कुल वही फाइल उनके सिस्टम में भी है जैसे ही आप ट्रांजैक्शन करते हैं, तो आपका कंप्यूटर इन्फॉर्म करने के लिए उन दोनों अकाउंट्स को ईमेल करता है।

प्रत्येक अकाउंटेंट को जल्द से जल्द यह चेक करना होता है कि आप इसे Afford कर सकते हैं या नहीं। इन दोनों अकाउंटेंट्स में से जो भी पहले चेक करता है वह Reply All प्रेस करके ट्रांजैक्शन को वेरीफाई करता है।

इसी बीच अगर दूसरा Accountant भी Agree कर लेता है तो वह सभी अपने Files Off Transaction को अपडेट कर लेते हैं इसी पूरी प्रक्रिया को ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी कहा जाता है।

Blockchain Technology का अविष्कार किसने किया?

blockchain technology सबसे पहले 1991 में Stuart haber और w.scott stornetta के द्वारा सामने आई थी। लेकिन blockchain को अपनी पहली real world application 2009 में मिली जब बित्कोइन के लॉन्च हुआ था।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का आविष्कार जापानी नागरिक सतोशी नाकामोतो ने वर्ष 2008 में किया था ताकि वह बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी पब्लिक ट्रांजैक्शन के अनुसार कर सके।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का आविष्कार करने के पीछे सतोशी नाकामोतो का उद्देश्य था कि वह एक ऐसी टेक्नोलॉजी का आविष्कार करें जो लोगों को उनके पैसों को कंट्रोल करने की क्षमता दे। वह चाहते थे कि उनके पैसों को कोई भी Third Party या सरकार Monitor और Access ना कर सके।

बिटकॉइन के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी आविष्कार पहला ऐसा आविष्कार है जो Double Spending Problem को हल कर सकता है वह भी बिना किसी Trusted Central Server की मदद से।

Blockchain Technology के बारे में जानने योग्य कुछ बातें

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के बारे में जानने के लिए आपको नीचे दिए गए बिंदुओं पर ध्यान देना जरूरी है-

  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को सार्वजनिक करना आवश्यक नहीं है यह प्राइवेट नेटवर्क के रूप में कार्य कर सकता है।
  • ज्यादातर फाइनेंसियल इंस्टिट्यूट Pressure से बचने के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं।
  • इस टेक्नोलॉजी की मदद से एक Building Block बनाया जा सकता है जो इसकी Cost को कम कर देता है।
  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी फाइनेंस से भी ज्यादा तेज है जहां एक समय में मल्टीपल ट्रांजैक्शन करने होते हैं वहां ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी Apply की जा सकती है।

Blockchain technology vs internet technology in hindi

Serial Internet TechnologyBlockchain Technology
1.Internet Technology, कंप्यूटर को इंफॉर्मेशन एक्सचेंज करना Allow करती है। वही ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी कंप्यूटर को इंफॉर्मेशन रिकॉर्ड करने के लिए Allow करती है। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी एक नया प्लेटफार्म है जो बिजनेस की दुनिया को एक नया आकार देगा और पुराने मानवीय प्रयासों को भी बेहतर बना देगा।
2.First Generation को इंटरनेट टेक्नोलॉजी माना गया हैSecond Generation को ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी माना जाता है। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी बहुत बड़ा डेटाबेस है जो सभी के लिए खुला है इसमें आप इंफॉर्मेशन के साथ साथ पैसे टाइटल आईडेंटिटीज आदि रख सकते हैं।
5.Internet Technology में Trust बनाने के लिए सरकार और बैंक की आवश्यकता होती थी। वही ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी में Trust बनाने के लिए Clever Code की जरूरत होती है।

Blockchain Technology के पीछे की टेक्नोलॉजी

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के पीछे मुख्य रूप से तीन प्रकार के टेक्नोलॉजी लगी हुई है-

  1. Private Key Cryptocurrency
  2. Peer 2 Peer Network
  3. Program

Blockchain Technology की आवश्यकता

ब्लॉकचेन एक ऐसा मैकेनिज्म है जो सभी लोगों को उनके अकाउंट तक पहुंचने में मदद करता है इसकी मदद से कभी भी Missed Transaction नहीं होगा इस टेक्नोलॉजी से इंसानी और मशीनी गलतियों में कमी आएगी।

Blockchain Technology कितना सुरक्षित है?

वैसे तो इंटरनेट पर मौजूद कोई भी चीज सुरक्षित नहीं है लेकिन अगर ब्लॉकचेन की बात करें तो यह ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसे Hack नहीं किया जा सकता है।

ब्लॉकचेन में जब आप कोई भी ट्रांजैक्शन करते हैं तो इस टेक्नोलॉजी के पूरे नेटवर्क को सभी Nodes को Agree करना पड़ता है उसके बाद ही ट्रांजैक्शन पूरा होता है।

अगर कोई इंसान ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को हैक करने के बारे में सोचता है तो उसे एक सिस्टम को नहीं बल्कि पूरे के पूरे नेटवर्क को हैक करना पड़ेगा तभी जाकर इसकी हैकिंग संभव है।

इन सभी के आधार पर हम निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि ब्लॉकचेन टेक्नॉलॉजी बहुत ज्यादा सुरक्षित है।

भविष्य में Blockchain Technology के अनुप्रयोग

जैसे-जैसे ब्लॉकचेन टेक्नॉलोजी बढ़ती जा रही है वैसे-वैसे भविष्य में विभिन्न क्षेत्रों में इसके शुरू होने की संभावनाएं भी जताई जा रही हैं। भविष्य में Blockchain Technology नीचे दिए गए क्षेत्रों में शुरू हो सकती है-

1. स्मार्ट Contracts के क्षेत्र में

कोई भी इंडस्ट्री या कंपनी अगर हैवी कॉन्ट्रैक्ट पर निर्भर होती है जैसे फाइनेंस, फाइनेंशियल इंस्टिट्यूट, रियल स्टेट, कंस्ट्रक्शन, एंटरटेनमेंट वह सभी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से लाभान्वित होंगी।

2. सप्लाई चैन मैनेजमेंट के क्षेत्र में

जब भी कोई कंपनी या इंडस्ट्री अपनी वैल्यू बदलती है या अपने पास उपलब्ध प्रोडक्ट चेंज करती है तो ऐसी स्थिति में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से मैनेजमेंट को सही तरीके से मैनेज किया जा सकता है।

supply chain में supplier अपने खरीदे हुए मेटेरिअल का रिकॉर्ड blockchain में लिख कट रख सकते हैं जिससे उन प्रोडक्ट की authenticity को वेरीफाई किया जा सकता है।

3. सामान सुरक्षा के क्षेत्र में

अगर आप एक संगीतकार हैं और अपने गानों की रॉयल्टी चाहते हैं या फिर आप प्रॉपर्टी डीलर हैं और अपनी प्रॉपर्टी की Protection चाहते हैं तो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी इसमें आपकी काफी मदद कर सकती है।

4. भुगतान के क्षेत्र में

ब्लॉकचेन का विकास मुख्य रूप से पेमेंट प्रोसेसिंग में आने वाली बाधाओं से बचने के लिए किया गया है इस टेक्नोलॉजी की खास बात है कि यह किसी भी कंपनी की बड़ी से बड़ी पेमेंट को संभाल सकता है तथा बीच में आने वाली बाधाओं को भी दूर करता है।

5. व्यक्तिगत पहचान के क्षेत्र में

किसी भी देश की सरकार वहां रहने वाली निवासियों की बहुत सारी इंफॉर्मेशन जैसे जन्म प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र, शादी प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आदि संभाल कर रखती है।

ऐसी स्थिति में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी अपने हिसाब से बहुत ही आसानी से उन्हें मैनेज कर लेती है और सुरक्षित तरीके से स्टोर भी कर लेता है।

6. बैंकिंग क्षेत्र में

जैसे बैंकिंग और blockchain के बिच preference को देखे तो financial institutions में ज्यादा तर एक week में 5 दिन work होता है यानि आप एक week के इन दो दिन आप अपना चेक deposit करबाना चाहे तो आपको इंतजार करना परेगा और अगर आप वाकी की 5 working days में भी चेक deposit करवाते हैं तो transaction में काफी time भी लग सकता है।

यैसे में बैंक में integrating blockchain के जरिये transaction process को 10 मिनट में पूरा हो किया जा सकता है। blockchain के जरिये बैंक और institutions के बिच पॉइंट exchange भी जल्दी से कर सकते हैं।

7. हेल्थकेयर क्षेत्र में

हेल्थकेयर सेक्टर में blockchain का उपयोग करके किसी भी pasent की मेडिकल रिकॉर्ड को securly स्टोर किया जा सकता है। इसके लिए जब मेडिकल रिकॉर्ड genrate और sign किया जय तब इसे blockchain पर लिखना परेगा।

इससे patient को ये Proof भी मिलेगा की उनके रिकॉर्ड को अब change नहीं किया जा सकता है। इन patient की रिकॉर्ड को blockchain पर स्टोर करते समय private key का उपयोग भी किया जा सकता है जिससे इनकी privacy भी बनी रहे।

8. Voting system में

अभी की मॉडर्न वोटिंग सिस्टम में blockchain का उपयोग करके fraud को रोका जा सकता है और blockchain protocol से इस process में transparency भी रखी जा सकती है।

ब्लॉक चेन में ब्लॉक का क्या अर्थ है?

blockchain इनफार्मेशन को groups में कलेक्ट करता है और इसी groups को ब्लॉक भी कहा जाता है। हर एक ब्लॉक में लिमिटेड स्टोरेज capacity होती है और इसलिए जब एक ब्लॉक भर जाता है तो वो पहले भरे ब्लॉक से जाकर जुर जाता है। पहले भरे ब्लॉक से दुसरे भरे ब्लॉक जुर कर एक चैन बन जाता हैं जो की डेटा की चैन होती है और इसलिए इसे ब्लॉक चैन कहा जाता है।

पब्लिक ब्लॉकचेन और प्राइवेट ब्लॉकचेन क्या है?

वैसे तो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के बहुत सारे प्रकार इस समय मौजूद हैं लेकिन यहां मुख्य रूप से Private Blockchain और Public Blockchain के बारे में ही बात की जाती है।

1. Public Blockchain – Public Blockchain किसी भी व्यक्ति को ट्रांजैक्शन देखने और सेंड करने की सुविधा प्रदान करते हैं जब तक वह व्यक्ति पब्लिक ब्लॉकचेन का हिस्सा है।

2. Private Blockchain – Private Blockchain बिल्कुल पब्लिक ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के विपरीत काम करता है प्राइवेट लॉक चैन केवल उन्हीं लोगों को ट्रांजैक्शन करने और सेंड करने की सुविधा प्रदान करता है जो निजी रूप से इसे इस्तेमाल करते हैं।

Blockchain Technology के लाभ?

  1. ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी स्मार्ट डिवाइस को एक साथ कम्युनिकेशन करने की सुविधा देता है जिससे वह आपस में बेहतर तरीके से बात कर सकें।
  2. ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से लेन-देन में आने वाली घपलेबाजी से छुटकारा मिल जाता है।
  3. इस तकनीक से आप अपने डेटा का खुद ही संरक्षण कर सकते हैं।
  4. इस तकनीक से आप विभिन्न प्रकार की क्रिप्टोकरंसी को भी अपने अनुसार कंट्रोल कर सकते हैं वह भी बिना सरकार के।
  5. किसी भी अनौपचारिक अर्थव्यवस्था में ब्लॉकचेन हमें ब्रोकर मतलब दलाल से बचाता है जिससे Asset का आदान-प्रदान आसानी से हो जाता है।
  6. इस तकनीक की मदद से बहुत सारी बाधाओं जोकि Freedom, Judiciary, और Regulation से संबंधित हैं उन्हें सही और सुचारू ढंग से एड्रेस किया जा सकता है।
  7. ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के द्वारा की जाने वाली किसी भी चीज को हैकिंग के खतरे से बचाया जा सकता है।

Blockchain Technology के हानी

  1. ये blockchain technology फ्री नहीं है।
  2. अपनी speed की बजह से ये हर सेकंड लिमिटेड transaction ही कर सकती है।
  3. blockchain technology का उपयोग एलिगल एक्टिविटीज में होता रहा है।

Blockchain Technology का भविष्य?

यहां तक आप निश्चित रूप से समझ ही गए होंगे कि ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की उपयोगिता क्या है तथा इसे किस प्रकार के कामों में उपयोग किया जा सकता है।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी ने इंफॉर्मेशन से लेकर जो चीज हम सोच सकते हैं उस सब को बदल कर रख दिया है। इस टेक्नोलॉजी से यह निश्चित हो जाता है कि किस प्रकार की इंफॉर्मेशन को कहां और किस तरह Store किया जा सकता है।

Blockchain Technology के भविष्य के बारे में देखें तो अभी के समय में कुछ ऑर्गेनाइजेशन इसके विरोध में हैं लेकिन समय के साथ-साथ उम्मीद है सभी लोग इसके पक्ष में आ जाएंगे। इस प्रकार हम कह सकते हैं कि ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का भविष्य बहुत ही उज्जवल है।

FAQ – Blockchain technology

Q- ब्लॉक चैन तकनीक क्या है?

Ans- ब्लॉक चैन तकनीक एक यैसा तकनीक है जिसके द्वारा डिजिटल लेन देन को शुरक्षित किया जाता है और रिकॉर्ड रखा जाता है।

Q- ब्लॉकचैन का उपयोग किस लिए किया जाता है?

Ans- ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी का उपयोग डिजिटल देन देन की रिकॉर्ड रखने के लिए किया जाता है।

Q- ब्लॉकचेन तकनीक का आविष्कार किसने किया था?

Ans- ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का आविष्कार जापानी नागरिक सतोशी नाकामोतो ने किया था।

Q- Blockchain का परपज है?

Ans- Blockchain का परपज डिजिटल इनफार्मेशन को रिकॉर्ड और distribute करने की permission देना है लेकिन edit करने की नहीं।

Q- Blockchain का उपयोग

Ans- यैसे बहुत से एरिया है जहां blockchain usefull साबित हो सकता है और बहुत से impotent सेक्टर की devices को बेहतर बना सकती है।

Conclusion / निष्कर्ष –

दोस्तों मैं उमीद करता हूँ की आपको ये आर्टिकल Blockchain kya hai को पढने के बाद Blockchain Technology के बारे में पूरी जानकारी मिल गया होगा और आपके मन में blockchain technology से जुरे जो भी प्रश्न होगा उसका जवाब आपको मिल गया होगा।

वैसे तो मैं इस आर्टिकल Blockchain kya hai में मैं पूरी जानकारी सही सही और सरल शब्दों में समझाया हूँ फीर भी आपको लगे की इसमें कुछ छुट गया है या कुछ गलती है तो आप मुझे कमेंट करके अवश्य बताये, मैं उस गलती को शुधारने की कोशिश करूँगा।

अगर ये आर्टिकल Blockchain kya hai आपको अच्छा लगा हो और आपको लगे की ये जानकारी काम की है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिये। इस लेख को पढने के बाद आपके मन में कोई प्रश्न आया हो तो आप मुझे कमेंट में पूछ सकते हैं या मेरे इस ब्लॉग के contact us पेज में जाकर मुझे contact कर सकते हैं।

ये जानकारी भी पढ़े-

Metaverse क्या है metaverse technology की पूरी जानकारी

Web 3.0 क्या है वेब 3.0 की पूरी जानकारी

Internet क्या है और इंटरनेट का अविष्कार किसने किया था?

Hello Friends. मेरा नाम Baiju Mukhiya और मैं इस Blog rahiweb Digital का Founder हूँ। मैं इस ब्लॉग पर Digital marketing, Make Money, SEO Tips, Blogging, YouTube, Internet, Computer, new technology and Web hosting, app, mobile, software reviews आदि की जानकारी पोस्ट करता हूँ।

Leave a Comment