Data kya hai aur kitne prakar ke hote hain | What is Data in hindi?

दोस्तों आज के इस आर्टिकल “Data kya hai” में मैं आपको Data की पूरी जानकारी आसान भाषा में दूंगा जिसमे आप जानेंगे की Data क्या होता है (What is Data in hindi), Data कितने प्रकार क होते हैं (Types of Data in hindi), Data की परिभाषा क्या है, Data का पूरा नाम क्या है (Full Form of Data in hindi), Data का महत्व क्या है?

अगर आप एक कंप्यूटर Science का student है या आप Computer और technology के बारे में जानकारी लेना चाहते हैं तो आपके लिए ये आर्टिकल “Data kya hai” बहुतमहत्वपूर्ण होगा। क्योंकि मैं इसमें Data की पूरी जानकारी हिंदी में समझाया हूँ इसलिए इसे पढ़ने के बाद आपको Data की सभी जानकारी मिल जायेगा।

Database क्या है? What is Database in hindi

DBMS क्या है? What is DBMS (Database Managements System) in hindi

आपसे अनुरोध है की आप इस आर्टिकल “Data kya hai” को शुरुआत से अंत तक अवश्य पढ़े तभी आपको Data की पूरी जानकारी मिलेगा।

Data क्या है? (Data kya hai – What is Data in hindi)

Data Character का एक यैसा सेट होता है जो किसी purpose के लिए कलेक्ट किया जाता है। data को कलेक्ट करने का मुख्य कारण data को analyse करना होता है। Data एक कंप्यूटर Language है और Computer Language में किसी भी प्रकार की जानकारी को data कहा जाता है।

Data kya hai
Data_kya_hai?

Data में कोई भी Character, Number, Text, Picture, Sound, Video हो सकते हैं। कंप्यूटर data एक यैसी इनफार्मेशन होती है जो कंप्यूटर द्वारा process और store किया जाता है। कम्पुटर data को CPU के द्वारा process किया जाता है और कंप्यूटर सिस्टम की हार्ड-डिस्क में file या फोल्डर के रूप में स्टोर किया जाता है।

Data कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Data in hindi)

कंप्यूटर सिस्टम में कई प्रकार के data को स्टोर करके रखा जाता है जैसे की Text , Number, Alphanumeric, Image, Audio, Video और Graphic data इत्यादि। तो चलिए अब हम सभी प्रकार के data के बारे में थोरा बिस्तार से जान लेते हैं।

Text Data – Text Data उस data को कहा जाता है जो अंग्रेजी वर्णमाला के A से Z तक की alphabates से बना होता है और इसीलिए Text data को alphabates data भी कहा जाता है।

Numerical Data – Numerical Data 0 to 9 तक की number से बने data को कहा जाता है। किसी भी प्रकार के चार्ट पर ग्राफ़िक बनाने के लिए ज़्यादातर Number data का उपयोग किया जाता है।

Alphanumeric Data – Alphanumeric को Symbols भी कहा जाता है जिसके अंदर @, #,$,%,&,*,%,? आदि की से बने data को alphanumeric data कहा जाता है।

Image Data – कंप्यूटर सिस्टम में Jpg, jpeg और png format में image को स्टोर करके रखा जाता है जिसे image data कहा जाता है।

Audio Data – कंप्यूटर सिस्टम में स्टोर Sound data को Audio data कहा जाता है और ये data MP3 की format में होता है।

Video Data – कंप्यूटर में जितने भी video को स्टोर करके रखा जाता है उसे video data कहा जाता है और ये data MP4 की format में होता है।

Graphic Data – कंप्यूटर सिस्टम में अनेक प्रकार के Graphics और Pivot chart को data के रूप में स्टोर करके data जाता है।

Data का पूरा नाम क्या है? (Full Form of Data in hindi)

Data का पूरा नाम (Full Form) Digital Account of Technology Advancement होता है जिसका हिंदी में मतलब प्रोधोगिकी उन्नति का डिजिटल खाता है।

Data processing क्या है?

Data processing का मतलब इंसानों या machine के द्वारा data को ज्यादा Useful बनाने या किसी खास purpose से Data को उपयोगी बनाने के लिए फीर से तैयार करना या एक systemic order में जमाना होता है।

आसान भाषा में समझे तो row data को कंप्यूटर द्वारा process करके information में बदलने की प्रक्रिया को Data Processing कहा जाता है। अर्थात हम जिस भी data को कंप्यूटर में input करते हैं कंप्यूटर उस data को process करके information में बदल कर output के रूप में प्रदर्शित करता है।

कंप्यूटर में मुख्य चार चरणों Data processing की क्रिया को पूरा किया जाता है जिसे Input, Process, Output और Storage के नाम से जाना जाता है। तो चलिए Data Processing की चारो चरणों के बारे मब विस्तार से जान लेते हैं।

Input Data

Keyboard और Mouse जैसे Input device के माध्यम से हम कंप्यूटर में जो भी Data input करते हैं उसे Input Data कहा है।

Processing Data

कंप्यूटर सिस्टम में लगे CPU एक processing device होता है जो input device के माध्यम से इनपुट किये गए data को process करके information में बदल देता है।

Output Data

कंप्यूटर सिस्टम में इनपुट किये गए data को CPU के द्वारा proccess करके information में बदलने के बाद Output device में उस information को प्रदर्शित किया जाता है।

Storage Data

कंप्यूटर सिस्टम में process किये गए data को storage device जैसे की Hard-disk में स्टोर करके रखा जाता है। बाद में कभी जरुरत परने पर स्टोर किये गए data को एक्सेस करके उपयोग किया जाता है या उस data को update भी किया जाता है।

Data को स्टोर कैसे किया जाता है?

कंप्यूटर में internal storage device लगा होता है जिसे Hard-disk कहा जाता है। इस स्टोरेज device में किसी भी प्रकार के data को स्टोर करके रखा जा सकता है और बाद में जरुरत परने पर उस data file को एक्सेस करके data का उपयोग किया जा सकता है।

कंप्यूटर सिस्टम में स्टोर data को एक्सेस करके edit क्या जा सकता है और जिस data का जरुरत ना हो उसे delete भी किया जा सकता है। लेकिन कंप्यूटर सिस्टम से एक बार data को delete करने पर उसे recover नहीं किया जा सकता है।

कंप्यूटर सिस्टम में enternal storage device के अलावा आप external storage device जैसे की Pendrive, Hard-disk, DVD, CD आदि को connect करके data स्टोर किया जा सकता है।

कंप्यूटर सिस्टम में data को स्टोर करने के लिए दो तरीके की मेमोरी का उपयोग किया जाता है जिसे Primary Memory और Secondary Memory कहा जाता है।

Primary Memory – Primary Memory में data को स्टोर करते हैं और अगर कंप्यूटर की पॉवर चला भी जाता है तो data उसमे स्टोर ही रहता है जिसे आप कभी एक्सेस करके उपयोग कर सकरे है। Hard-disk एक Primary Memory होता है जिसमे स्टोर data को कंप्यूटर की पॉवर डिसकनेक्ट होने पर कोई प्रभाव नहीं परता है।

Secondary Memory – Secondary memory में स्टोर data कंप्यूटर सिस्टम की पॉवर डिसकनेक्ट होने पर delete हो जाता है। secondary memory का उदहारण RAM है जिसका पूरा नाम Random Access Memory है। RAM को कंप्यूटर सिस्टम में लगे CPU के द्वारा मैनेज किया जाता जिससे इसमें स्टोर data autocratically delete होता रहता है।

Data की महत्व क्या है?

आज के Digital युग में data का बहुत महत्व है क्योंकि की अभी के समय में लगभग सभी business को Digital तरीके से किया जाने लगा है। आज के समय में सभि प्रकार के business को online किया जा रहा है और business की marketing भी online ही किया किया जाने लगा है।

यहाँ समझने वाली बात है की जब business का marketing online किया जा रहा है तो online marketing करने के लिए कंपनी को Audience भी चाही होता होगा जिसे कंपनी अपने प्रोडक्ट के बारे में बताता होगा।

यैसे में कंपनी marketing करने के लिए customer का data collect करके रखता है और उस data को अपने business के लिए सही से उपयोग करते हैं।

आप amazon, Flipkart या और किसी eCommerce साईट से कभी कुछ online shopping किये होंगे तो उसके बाद भी बार बार वहां से किसी offer या नए प्रोडक्ट का आपके mobile नंबर पर massage या आपके email पर mail आता होगा। आपको massage या mail बार बार इसलिए आता है क्योंकि आपने shopping करते समय जो भी अपना नाम, नंबर, email id और address की डिटेल दिए होंगे कंपनी उस डिटेल को data के रूप में स्टोर करके रख लिया है और उस data का उपयोग अपने business की marketing में करता है।

Data का क्या उपयोग है?

आज के डिजिटल समय में सब कुछ online हो रहा है जिससे अभी के समय में data का उपयोग बहुत सी कामो को करने के लिए किया जाता है। तो चलिए data की उपयोग के बारे में हम पॉइंट्स में जान लेते हैं-

  • किसी भी स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय में स्टूडेंट्स की डिटेल को data के रूप में records के तोर पर रखा जाता है।
  • eCommerce साईट की कंपनी customer की data को इसलिए स्टोर करके रखता है ताकि अपने किसी प्रोडक्ट या offer के बारे में customer तक जानकारी पहुंचा सके।
  • किसी हॉस्पिटल में दवाइयों, मरीजों और हॉस्पिटल की कर्मचारी की records रखने के लिए data का उपयोग किया जाता है।
  • किसी कंपनी में कंपनी की employee की data और काम की data को भी records के रूप में रखा जाता है।
Conclusion / निष्कर्ष –

दोस्तों मैं उमीद करता हूँ की इस आर्टिकल “Data kya hai” को शुरुआत से लेकर यहाँ तक पढ़े होंगे तो इसमेंदिये गए Data की जानकारी आपको अच्छा लगा होगा और आपको Data की पूरी जानकारी सही से समझ में आया होगा।

मुझे लगता है की आपके मन में Data से जुरे जितने भी सवाल होगा उसका जवाब आपको इस आर्टिकल “Data kya hai” को पढने के बाद मिल गया होगा और आपको data की पूरी जानकारी अच्छे से समझ में आगया होगा।

वैसे तो मैं इस आर्टिकल “Data kya hai” में सभी जानकारी सही सही देने और आसान भाषा में समझाने की कोशिश किया हूँ फीर भी आपको लगे की इसमें कुछ गलती है यता कुछ छूट गया है तो आप मुझे कमेंट करके अवश्य बताइए, मैं उसे तुरंत update करने की कोशिश करूँगा।

इस आर्टिकल “Data kya hai” को पढने के बाद आपके मन में कोई प्रश्न आया हो या आप मुझसे कुछ पूछना चाहते हैं तो आप मुझे कमेंट कर सकते हैं या मेरे इस ब्लॉग rahiweb.com के Contact Us page में जाकर मुझे contact कर सकते हैं।

ये जानकारी भी पढ़े-

Gmail क्या है? जीमेल की पूरी जानकारी

Email क्या है? ईमेल की पूरी जानकारी

Email और Gmail में क्या अंतर है?

Web 3.0 क्या है? वेब 3.0 की पूरी जानकारी

इंटरनेट क्या है और इंटरनेट का अविष्कार किसने किया?

गूगल क्या है और गूगल का अविष्कार किसने किया?

सर्वर क्या होता है? सर्वर की पूरी जानकारी

कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में

मॉनिटर क्या है? मॉनिटर की पूरी जानकारी

कीबोर्ड क्या है और कितने प्रकार के होते हैं?

माउस क्या है और कितने प्रकार के होते हैं?

सॉफ्टवेयर क्या है और कितने प्रकार का होता है?

MS Word kya hai?

MS Excel kya hai?

MS Office kya hai?

Leave a Comment