Computer hardware kya hai aur kitne prakar ke hote hain | What is Hardware in hindi

हार्डवेयर क्या है और कितने प्रकार के होते हैं? What is Hardware in hindi?

दोस्तों आज के इस आर्टिकल “Hardware kya hai” में मैं आपको Hardware की पूरी जानकारी हिंदी में दूंगा जिसमे आप जानेंगे की What is Hardware in hindi, hardware के प्रकार, Hardware कैसे काम करता है?

अगर आप एक कंप्यूटर साइंस का student हैं या आपको कंप्यूटर के बारे में पढ़ना पसंद है तो ये आर्टिकल “Hardware kya hai” आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा।

आप जानते होंगे की Hardware और Software दोनों मिलकर ही एक कंप्यूटर बनता है। Hardware और Software दोनों कंप्यूटर का महत्वपूर्ण हिसा है। इसमें से किसी एक के बिना कंप्यूटर का कोई महत्व नही है।

“Hardware kya hai” जिस प्रकार मनुष्य की शरीर और दिमाग दोनों को मिला कर एक पुरा मनुष्य बनता है उसी प्रकार Hardware और Software को मिलाकर पुरा कंप्यूटर बनता है। खास कर कंप्यूटर का अस्तित्व ही पुरा hardware है।

सॉफ्टवेयर क्या है और कितने प्रकार का होता है?

इसलिए सभी कंप्यूटर की जानकारी रखने वाले को कंप्यूटर hardware की जानकारी रखना महत्वपूर्ण है। तो चलिए बिना देर करे जान लेते हैं की कंप्यूटर Hardware kya hai?

हार्डवेयर क्या है? What is Hardware in hindi?

कंप्यूटर का वो भाग जिसे आँख से देखा या हाथ से छुआ जा सकता है उसे hardware कहा जाता है। यानी कंप्यूटर hardware कंप्यूटर का physical component होता है जिसे देखा या छुआ जा सकता है।

कंप्यूटर की भौतिक भाग को हार्डवेयर के नाम से जाना जाता है और हार्डवेयर के माध्यम से ही कंप्यूटर में कोई भी data इनपुट किया जाता है फीर processing किया जाता है और Output के रूप में यूजर के सामने प्रदर्शित किया जाता है।

hardware kya hai what is hardware in hindi
Hardware kya hai?

Hardware कंप्यूटर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसके बिना कंप्यूटर का कोई अस्तित्व नही है। Keyboard, Mouse, Monitor, SMPS, RAM, ROM, Motherboard, Hard-disk, CPU, UPS आदि, इसके अलावा और भी कई सारे हार्डवेयर से मिल कर ही एक कंप्यूटर बनता है।

कंप्यूटर हार्डवेयर कितने प्रकार के होते हैं?

वैसे तो पूरा कंप्यूटर ही हार्डवेयर का बना होता है लेकिन कंप्यूटर हार्डवेयर को कार्य के आधार पर चार भागों में विभाजित किया गया है। तो चलिए निम्नलिखित में उन चार प्रकार के कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में जान लेते हैं।

  1. Input Device (इनपुट डिवाइस)
  2. Output Device (आउटपुट डिवाइस)
  3. Proccessing Device (प्रोसेस्सिंग डिवाइस)
  4. Storage Device (स्टोरेज डिवाइस)

1. Input Device क्या है?

Input device से तात्पर्य यैसे device से है जिसके द्वारा एक user कंप्यूटर से connect हो पाता है और कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के डाटा को input करता है या कंप्यूटर में कोई कमांड देता है।

कंप्यूटर की जिस भी device के द्वारा user कंप्यूटर को input देता है उस device को input device कहा जाता है। आसान भाषा में समझे तो user जिस भी device के द्वारा कंप्यूटर को कोई भी कार्य करने का निर्देश देता है उसे input device कहते हैं।

उदाहरण के लिए Keyboard, Mouse, Microphone और scanner ये सभी input device के अंतर्गत आने वाली device है।

2. Output Device क्या है?

Output device से तात्पर्य यैसे device है जिसके द्वारा कंप्यूटर में किया गया कार्य को यूजर को दिखाया जाता है।

कंप्यूटर की जिस भी device के द्वारा कंप्यूटर में किया गया कार्य को यूजर देख या सुन सकता हैं उस device को Output device कहा जाता है।

उदाहरण के लिए Monitor, Printar, Projector, Headphone और Speaker ये सभी Output device के अंतर्गत आने वाली device है।

3. Processing Device क्या है?

User के द्वारा input device के माध्यम से कंप्यूटर में जो data निर्देश के रुप में input किया जाता है उस data को कुछ मध्यत device के द्वारा information में बदल कर output के रूप में प्रदर्शित किया जाता है उसी मध्यत device को processing device कहा जाता है। 

आसान भाषा में समझे तो user कंप्यूटर को input device के द्वारा जो डाटा निर्देश या कार्य देता है, कंप्यूटर में लगे processing device उस डाटा या कार्य को पहले process करता है और फिर उस डाटा को जानकारी में बदल कर output device के द्वारा user के सामने प्रदर्शित करता है। 

इस पूरी प्रक्रिया को processing कहा जाता है और processing बहुत फास्ट में होता है, इसलिए कंप्यूटर में user के द्वारा input देते ही output दिखा देता है। 

उदाहरण के लिए CPU (Central Processing Unit), GPU (Graphics Processing Unit) और Network card आदि processing device है। 

4. Storage Device क्या है?

कंप्यूटर में processing device के द्वारा जो कार्य किया जाता है उस कार्य या information को बनाये रखने और स्टोर करके रखने का काम जिस device के द्वारा किया जाता है उसे स्टोरेज device कहा जाता है। कंप्यूटर की सभी डाटा और अप्लिकेशन Storage device में ही store रहता है। 

आसान भाषा में समझे तो user कंप्यूटर को input के रूप में जो भी निर्देश देता है उसे processing device परॉसेस करके output के रूप में प्रदर्शित करता है, user उस information को कंप्यूटर में लगे storage device में save करके रख सकता है और बाद में कभी भी जरूरत परने पर उस information का उपयोग कर सकता है। 

उदाहरण के लिए Hard Disk, RAM, ROM, Optical Drive, DVD drive आदि Storage device है।

सेटअप के आधार पर हार्डवेयर के प्रकार

Setup के आधार पर कंप्यूटर hardware को दो भागो में विभाजित किया गया है, जिसे Internal Hardware और External Hardware के नाम से जाना जाता है। 

Internal Hardware

Internal hardware से तात्पर्य यैसे कंप्यूटर hardware से है जो system unit के अंदर लगा होता है और जिसे हम System unit को बिना खोले हुए देख या छु नही सकते हैं। आसान भाषा में समझे तो कंप्यूटर की System Unit (जिसे Cabinet भी कहा जाता है) के अंदर में जितने भी hardware का setup किया गया होता है उसे Internal hardware कहा जाता है। 

  1. Motherboard
  2. Hard Disk Drive
  3. RAM
  4. CPU
  5. Graphics Card
  6. SMPS
  7. DVD Drive
  8. System Fan
  9. Heat Sink
  10. Optical Drive
  11. Flopy Disk
  12. Network Card

External Hardware

External Hardware से तात्पर्य यैसे कंप्यूटर hardware से है जो System Unit के बाहर लगे होते हैं और जिसे हम System unit को बिना खोले हुए देख सकते हैं और छु सकते हैं। आसान भाषा में समझे तो कंप्यूटर के System unit के बाहर जितने भी Hardware का उपयोग किया जाता है उसे External Hardware कहलाता है। 

  1. Monitor
  2. Keyboard
  3. Mouse
  4. Printer
  5. Scanner
  6. Microphone
  7. Headphone
  8. Speaker
  9. Fax machine
  10. Pan Drive
  11. Memory
  12. CD, DVD
  13. Card Reader
  14. Bar Code Reader
  15. Credit Card Machine

हार्डवेयर की परिभाषा क्या है?

कंप्यूटर का वो भाग जिसे देखा या छुआ जा सकता है उसे हार्डवेयर कहा जाता है। हार्डवेयर के द्वारा ही कोई यूजर कंप्यूटर में किसी data को इनपुट कर सकता है या कंप्यूटर को किसी कार्य को करने का निर्देश दे सकता है और हार्डवेयर ही यूजर के द्वारा इनपुट किये गए data को information में बदल कर आउटपुट के रूप में यूजर के सामने प्रदर्शित करता है।

हार्डवेयर को किसी वायर या कनेक्टर के माध्यम से आपस में कनेक्ट किया जाता है और कंप्यूटर में install device driver के द्वारा ही हार्डवेयर work करता है।

हार्डवेयर क्या काम करता है?

कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से ही मिलकर बनता है इसलिए कंप्यूटर में हार्डवेयर का बहुत महत्वपूर्ण है। कंप्यूटर में हार्डवेयर का क्या काम होता है या कंप्यूटर में हार्डवेयर क्या काम करता है इसके बारे में मैं आपको निम्नलिखित में पॉइंट्स में बताया हूँ।

  • Hardware के माध्यम से user कंप्यूटर में data input करता है या कंप्यूटर को किसी भी कार्य को करने के लिए निर्देश देता है।
  • Hardware के द्वारा कंप्यूटर में data को information में बदला जाता है।
  • Hardware में ही user के सामने कंप्यूटर किसी भी जानकारी को Output के रूप में प्रदर्शित करता है।
  • Hardware में ही कंप्यूटर का कोई भी डाटा स्टोर किया जाता है।
  • Hardware के द्वारा ही कंप्यूटर power supply लेता है।

Hardware कैसे काम करता है?

कंप्यूटर में हार्डवेयर को काम करने के लिए या सॉफ्टवेयर से connect करने के लिए कंप्यूटर में Device Driver software की आवयश्कता परता है। सभी कंप्यूटर में operating system सॉफ्टवेयर के साथ में ही device driver सॉफ्टवेयर भी डाला जाता है जिससे कंप्यूटर में सभी हार्डवेयर connect हो पाता है।

आसान भाषा में समझे तो कंप्यूटर में कोई भी हार्डवेयर तभी काम करेगा जब कंप्यूटर में उस हार्डवेयर की device driver सॉफ्टवेयर install रहेगा। किसी भी कंप्यूटर में सभी हार्डवेयर की डिवाइस ड्राईवर install करना परता है, क्योंकि कंप्यूटर में सभी device driver एक साथ ही install हो जाता है इसलिए अलग अलग device driver डालने की परशानी नहीं होता है।

अगर कंप्यूटर में किसी device का driver में problem आ जाता है उस driver को uninstall करके फीर से install करने पर ठीक हो जाता है या अगर कोई device driver uninstall हो जाता है तो उसे फीर से install करने पर हार्डवेयर काम करने लगता है।

Conclusion / निष्कर्ष- आपने क्या सिखा

दोस्तों मैं उमीद करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल “Hardware kya hai” अच्छा लगा होगा और आपको इस आर्टिकल में दिये गए कंप्यूटर hardware की जानकारी समझ में आया होगा।

अगर आप इस आर्टिकल “Hardware kya hai” को शुरुआत से लेकर अंत तक पढ़े होंगे तो आपको hardware की पूरी जानकारी अवश्य समझ में आया होगा।

वैसे तो मैं इस आर्टिकल “Hardware kya hai” में सब कुछ सही सही आसान भाषा में समझाने की कोशिश किया हूँ फिर भी आपको लगे की इसमें कुछ त्रुटि है या कुछ छुट गया है तो आप मुझे comment करके बता सकते हैं, मैं उसे तुरंत update करने की कोशिश करूँगा।

इस आर्टिकल “Hardware kya hai” को पढ़ने के बाद आपके मन में कोई प्रश्न आया हो या आपको मुझसे कुछ पूछना हो तो आप मुझे comment कीजिये या मेरे इस ब्लॉग के Contact Us पेज में जाकर मुझसे संपर्क कीजिये।

इस आर्टिकल “Hardware kya hai” को पढने के बाद ये भी पढ़े-

Gmail क्या है? जीमेल की पूरी जानकारी

Email क्या है? ईमेल की पूरी जानकारी

Email और Gmail में क्या अंतर है?

Web 3.0 क्या है? वेब 3.0 की पूरी जानकारी

इंटरनेट क्या है और इंटरनेट का अविष्कार किसने किया?

गूगल क्या है और गूगल का अविष्कार किसने किया?

सर्वर क्या होता है और कितने प्रकार का होता है?

कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर की पूरी जानकारी हिंदी में

मॉनिटर क्या है? मॉनिटर की पूरी जानकारी हिंदी में

Leave a Comment