SSD क्या है SSD का Full Form प्रकार और उपयोग | What is SSD in hindi

SSD क्या है (What is SSD in hindi), SSD का कार्य, प्रकार, परिभाषा, उपयोग, Full Form क्या है तथा SSD और HDD में क्या अंतर है आदि।

क्या आप जानना चाहते है की SSD क्या है या SSD की पूरी जानकारी क्या है तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत उपयोगी होने वाला है। इसलिए इस जानकारी को पूरा अवश्य पढ़ें और इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिये जिससे उन्हें भी ये जानकारी मिल सके।

इस आर्टिकल में मैं आपको SSD की पुएई जानकारी बहुत ही आसान भाषा में समझाऊंगा जिसमे आप जानेंगे की SSD क्या है (What is SSD), SSD का कार्य, प्रकार, परिभाषा, उपयोग, Full Form क्या है तथा SSD और HDD में क्या अंतर है।

अगर आप एक कंप्यूटर स्टूडेंट है या कंप्यूटर के बारे सीखना चाहते हैं तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकता है। जैसा की आप जानते होंगे की अभी के समय में हर फ़ील्ड में और लगभग सभी कामों को कंप्यूटर के माध्यम से किया जाता है।

SSD कंप्यूटर का महत्वपूर्ण भाग है इसलिए SSD के बारे पूरी जानकारी होना सभी कंप्यूटर यूजर के लिए बहुत जरुरी है। तो चलिए जान लेते हैं की SSD क्या है तथा SSD की पूरी जानकारी। 

SSD क्या है? (What is SSD)

SSD कंप्यूटर और लैपटॉप में उपयोग किये जाने वाले एक प्रकार का Storage Device है जो की HDD का ही अपडेटेड वर्शन है और इसे New Technology का उपयोग करके तैयार किया जाता है। इसका पूरा नाम Solid State Device (सॉलिड स्टेट डिवाइस) है।

SSD क्या है
SSD kya hai

SSD में HDD के जैसा कोई भी Moving डिस्क या पार्ट नहीं होता है, ये Flash Memory Technology पर वर्क करता है। HDD के मुकबला इसका Speed बहुत ज्यादा होता है और ये बहुत कम पॉवर Consume करता है साथ ही ये वजन में भी बहुत हल्का होता है। लेकिन ये HDD के मुकाबला ज्यादा मंहगा (Costly) होता है।

SSD एक Non Volatile Storage Device होता है जिससे इसमें डाटा परमानेंट स्टोर रहता है और जब आप खुद से इसका डाटा डिलीट करते हैं तभी डिलीट होता है।

SSD कितने प्रकार के होते हैं?

अभी मार्केट में चार प्रकार के SSD उपलब्द है जिसे 2.5” SATA SSD, M.2 SSD, NVMe SSD और NVMe SSD के नाम से जानते हैं। आने वाले दिनों में और भी कितने प्रकार का SSD मार्केट में आ सकता है। तो चलिए चलिए सभी प्रकार के SSD के बारे में विस्तार से जान लेते हैं।

2.5” SATA SSD – SSD का सबसे पहला वर्शन 2.5” SATA SSD है जिसका Data को Read & Write करने का स्पीड 150 MBPS होती है। ये साइज़ और आकार में छोटा HDD के बराबर है जिसे एक SATA केबल के द्वारा कंप्यूटर या लैपटॉप में कनेक्ट किया जाता था। ये SSD SATA AHCI Protocol पर काम करती है।

NVMe SSD – ये एक Non-Volatile Memory express होता है। ये SSD सिस्टम में Conect करने के लिए सिस्टम की Motherboard में PCI express स्लॉट का उपयोग करती है। ये SSD NVMe Protocol पर काम करती है।

M.2 SSD – इस SSD का साइज़ SATA SSD की तुलना में छोटा और पतला होता है। ये SSD डेटा ट्रान्सफर करने के लिए 2.5” SATA SSD की तरह ही SATA केवल का उपयोग करता है तथा मदरबोर्ड में SATA केवल से कनेक्ट होता है। ये SSD AHCI Protocol पर काम करती है।

M.2 NVMe SSD – ये SSD भी RAM की आकार का होता है जो सिस्टम से कनेक्ट करने के लिए PCI express स्लॉट का उपयोग करती है तथा NVMe Protocol पर काम करती है।

SSD का Full Form क्या है?

SSD का Full Form यानि पूरा नाम Solid State Drive (सॉलिड स्टेट ड्राइव) होता है।

SSD की परिभाषा क्या है?

SSD कंप्यूटर और लैपटॉप में Use होने वाले एक स्टोरेज डिवाइस है जिसका पूरा नाम Solid State Device (SSD) होता है। इसमें Flash Memory Technology का उपयोग किया जाता है जिससे इसमें Data को Read & Wright करने के लिए किसी प्रकार का Moving Disk का उपयोग नहीं किया जाता है।

SSD उपयोग करने के फायदे?

HDD की तुलना में SSD का उपयोग करने के कई फायदे होते हैं इसलिए लोग अभी के न्यू मॉडल की कंप्यूटर और लैपटॉप में ज्यदातर SSD का ही उपयोग करते हैं।

  • HDD की तुलना में डाटा को Read & Wright करने की स्पीड SSD में बहुत ज्यादा होता है।
  • SSD में किसी प्रकार की Moving प्रक्रिया नहीं होती है जिससे ये बहुत कम पॉवर Consume करता है।
  • SSD में डिस्क के बदले में Cheap का उपयोग किया जाता है जिसमे कोई Moving प्रक्रिया नहीं होती है जिससे ये जल्दी ख़राब नहीं होता है और इसमें Data को लम्बे समय तक सेव करके रखा जा सकता है।
  • HDD की तुलना में SSD छोटे और हलके होते हैं जिससे ये लैपटॉप और मिनी सिस्टम में भी आसानी से Inbuilt हो जाता है।

SSD और HDD में क्या अंतर है?

S. No. HDD (Hard Disk Drive)SSD (Solid Estate Drive)
1HHD के अन्दर क डिस्क लगा होता है जो हमेश घुमता रहता है।SSD के अन्दर Chips लगा होता है जिससे इसमें कुछ घूमता नहीं है।
2HDD सस्ता होता है।HDD की तुलना में SSD महंगा होता है।
3HDD की Speed कम होती है।SSD का Speed बहुत ज्यादा होता है।
4ये बहुत ज्यादा Power Consume करता है।SSD बहुत कम Power Consume करता है।
5HDD साइज़ में बरा होता है और इसका वजन भी ज्यादा होता है।HDD की तुलना में SSD का साइज़ छोटा होता है और वजन भी बहुत हलके होती है।

Conclusion / निष्कर्ष –

दोस्तों मैं उमीद करता हूँ की इस आर्टिकल को पढ़ कर आपको SSD के बारे में पूरी जानकारी मिला होगा जो की आपके लिए बहुत उपयोगी होगा। इस आर्टिकल में आपने जाना की SSD क्या है, SSD की परिभाषा, काम, प्रकार, Full Form तथा उपयोग की पूरी जानकारी। ये आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिये।

वैसे तो मैं इस आर्टिकल में SSD की पूरी जानकारी सही सही और बहुत ही आसान भाषा में समझाने की कोशिश किया हूँ फिर आपको लगे की इसमें कुछ गलती है या कुछ छुट गया है तो आप मुझे कमेंट करके अवश्य बयाइए मैं तुरंत उसे अपडेट करने की कोशिश करूँगा।

इस आर्टिकल को पढने के बाद आपके मन में कोई प्रश्न आया हो या आपको कंप्यूटर, इंटरनेट, ऑनलाइन पैसे कमाने और डिजिटल मार्केटिंग से रिलेटेड मुझसे कुछ पूछना हो तो आप मुझे कमेंट कर के पूछ सकते है या मेरे इस Blog क Contact Us पेज में जाकर मुझसे संपर्क कर सकते हैं।

Hello Friends. मेरा नाम Baiju Mukhiya और मैं इस Blog rahiweb Digital का Founder हूँ। मैं इस ब्लॉग पर Digital marketing, Make Money, SEO Tips, Blogging, YouTube, Internet, Computer, new technology and Web hosting, app, mobile, software reviews आदि की जानकारी पोस्ट करता हूँ।

Leave a Comment