What is Web 3.0 in hindi? | Web 3.0 kya hai aur kaise ye internet ko badal dega?

What is Web 3.0 in hindi? | Web 3.0क्या है और कैसे ये इंटरनेट को बदल देगा?

दोस्तों आज के इस आर्टिकल “What is Web 3.0 in hindi” में मैं आपको Web 3.0 की पूरी जानकारी को हिंदी में समझाऊंगा जिसमे आप ये जानेंगे की वेब 3.0 क्या है और कैसे ये पुरे इंटरनेट को बदल देगा? इसमें आप ये भी जानेगे की वेब 3.0 के आने से यूजर को क्या फायदा होगा और वेब 3.0, वेब 1.0 और वेब 2.0 से कैसे अलग है?

दोस्तों वेब 3.0 क्या है? (What is Web 1.0 in hindi) के बारे में समझने से पहले अगर आप वेब 1.0 और वेब 2.0 के बारे में समझ लेते हैं तो आपको वेब 3.0 को समझने में आसान होगा। तो चलिए पहले मैं आपको समझा देता हूँ की वेब 1.0 और वेब 2.0 क्या है?

इंटरनेट क्या है और इंटरनेट का अविष्कार किसने किया?

गूगल क्या है और गूगल का अविष्कार किसने किया?

Email क्या है पूरी जानकारी हिंदी में जाने

Gmail क्या है पूरी जानकारी हिंदी में जाने

ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है?

वेब 1.0 क्या है? (What is Web 1.0 in hindi)

वेब 1.0 इंटरनेट का पहला version था जिसमे हमें सिर्फ जानकारी को पढने की अनुमति दी जाती थी। यानि उस समय का ब्लॉग या वेबसाइट बहुत सिंपल होता था जिसमे सिर्फ text होता था। यूजर सिर्फ इंटरनेट पर browse करके किसी जानकारी को पढ़ सकता था और उसके अलावा कुछ भी नहीं कर सकता था।

वेब 1.0 लगभग 1990 की दसक से 2004 तक चला जिसके बाद उसका advance version 2.0 आगया था। वेब 1.0 में बहुत सी कमियां थी जिसके सुधार के लिए ही वेब 2.0 का शुरुआत हुआ और अभी भी वेब 2.0 पर ही इंटरनेट चल रहा है।

वेब 2.0 क्या है? (What is Web 2.0 in hindi)

वेब 2.0 की शुरुआत लगभग 2004 में हुआ था जो की अभी तक चल रहा है यानि अभी हमलोग जो इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं वो वेब 2.0 पर ही काम कर रहा है। यहाँ तक की google भी वेब 2.0 में काम कर रहा है और अभी आप जो ब्लॉग पढ़ रहे हैं वो भी वेब 2.0 में ही पढ़ रहे हैं।

वेब 1.0 का advance version वेब 2.0 है जिसमे हमे जानकारी को पढने के साथ लिखने की भी अनुमति दी जाती है यानि वेब 2.0 में हम एक Creator बन गए जिसमे कोई भी यूजर जानकारी को पढ़ भी सकता है और जानकारी लिख भी सकता हैं।

वेब 2.0 एक Centralize Network पर काम करता है जिसमे आप किसी Blog या Website के साथ Interact हो सकते हैं। अभी कोई भी यूजर किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट पर कमेंट या लाइक कर सकते हैं और contact form के फिल करके ब्लॉग या वेबसाइट owner से जुर सकते हैं।

वेब 2.0 में ही Facebook, Whatsapp, Twitter, Instagram, Pinterest, Linkdin आदि जैसे और भी बहुत सारे Social media platform की लॉन्च किया गया, जिस पर अपना account बना कर अभी हमलोग किसी से भी connect होकर उनसे बाते करते हैं या उनको कोई massage में कोई जानकारी देते हैं।

वेब 3.0 क्या है? (What is Web 3.0 in hindi)

वेब 3.0 पिच्छले दोनों version वेब 1.0 और वेब 2.0 का Advance version है जो एक Decentralize web पर काम करेगा। वेब 3.0 इंटरनेट तकनिकी की advance version है जिसमे machine learning और Artificial Intelisense के उपयोग किया जायेगा।

What is Web 3.0 in hindi
What is Web 3.0 in hindi?

वब 3.0 में कोई भी data किसी एक सर्वर पर स्टोर नहीं रहेगा बल्कि Blockchain network पर काम करेगा जिसमे कोई भी data दुनिया की सभी सर्वर पर थोरा थोरा स्टोर हो जायेगा।

उदाहरण के लिए अभी आप अगर YouTube पर वीडियो upload करते हैं या Facebook पर photo पोस्ट करते हैं तो YouTube और Facebook जैसे प्लेटफॉर्म जो चाहे आपके data के साथ कर सकता है और उस data को delete भी कर सकता हैं।

लेकिन वेब 3.0 पूरी तरह आने के बाद Google, Facebook, Youtube जैसी किसी भी एक प्लेटफॉर्म पर आपका data स्टोर ना होकर दुनिया भर में बहुत सारे सर्वर पर Blockchain network की तरह थोरा थोरा स्टोर हो जायेगा। इससे ये फायदा होगा की अगर आपका डेटा किसी एक सर्वर से delete भी हो जायेगा तो बाकी की सर्वर पर रहेगा ही।

मुझे लगता है की इस आर्टिकल Web 3.0 in hindi को यहाँ तक पढने के बाद अब आपको समझ में आगया होगा की जैसे किसी भी software या mobile apps का new version आता है उसी तरह वेब 3.0 भी वेब 1.0 और वेब 2.0 का new version होगा। चाहिए अब जान लेते हैं की वेब 3.0 आने से इंटरनेट में क्या क्या बदलेगा?

Web 3.0 में क्या क्या बदलेगा

वेब 3.0 में बहुत कुछ बदलने वाला है जिससे सभी इंटनेट user को फायदा होगा। अगर आप एक ब्लॉग या वेबसाइट का मालिक है तो भी और आप एक user है तो भी आपको फायदा मिलेगा।

वेब 2.0 में google और Facebook जैसे कंपनियों ने user का data इकट्ठा करता है और उस data के अनुशार user को ads दिखाता है, जिसके बदले ads चलाने वाले कंपनी से पैसे लेता है। इस प्रकार वेब 2.0 में बरी बरी कंपनी user की data से पैसे कमा रहा है।

लेकिन वेब 3.0 में यैसा नही होगा। अगर आप एक user हैं और आप internet पर अपना data upload करेंगे तो ये कंपनी आपके data लेने से पहले आपसे अनुमति लेगा। जब आप अनुमति देंगे तभी आपके data का की कंपनी उपयोग कर सकता है और इसके बदले में आपको टोकन मिलेगा जिसका आप उपयोग कर सकते हैं। इस प्रकार एक user अपने data का मालिक खुद होगा।

वेब 3.0 एक decentralize web होगा जो एक Blockchain network में काम करेगा जिससे hacker के लिए किसी भी site या account को hack करना मुंकिन नही होगा। क्योंकि data बहुत सारे सर्वर पर थोरा थोरा करके स्टोरी रहेगा और हैकर दुनिया की सभी सर्वर को एक साथ हैक नही कर सकता है। इसलिए वेब 3.0 में अगर आप कोई भी data internet पर upload करेंगे तो वो बहुत secure होगा।

जिस प्रकार अभी cryptocurrency एक blockchain network में काम कर रहा है और इसका data किसी एक सर्वर पर ना होकर world की बहुत सारे सर्वर पर थोरा थोरा स्टोर होता है जो की एक blockchain network में काम करता है, उसी प्रकार वेब 3.0 में सभी ब्लॉग या वेबसाइट की Data एक Blockchain network में काम करेगा और world की बहुत सारे सर्वर पर data थोरा थोरा करके स्टोर रहेगा।

वेब 2.0 और वेब 3.0 में अंतर

वेब 2.0 एक centralize web पर काम करता है जबकि वेब 3.0 Decentralize web पर काम करता है।

वेब 2.0 में कोई भी data किसी एक ही सर्वर पर स्टोर होता है जबकि वेब 3.0 में की भी data blockchain network में दुनिया की सभी सर्वर पर थोरा थोरा करके स्टोर होगा।

वेब 2.0 एक ही सर्वर पर data होने के कारण hacker को दाता चोरी करने में आसानी होता है जबकि वेब 3.0 में हैकर को data चोरी करना मुंकिन नही होगा क्योंकि कोई भी data बहुत सारे सर्वर पर थोरा थोरा स्टोर होगा इसलिए हैकर एक साथ सभी सर्वर को हैक नही कर सकता है।

वेब 2.0 में user की data का उपयोग करके बहुत सारे कंपनीयों ने पैसे कमायें लेकिन वेब 3.0 में की भी कंपनी किसी भी user की data बिना अनुमति के नही उपयोग कर सकता है।

वेब 2.0 में user को अपने data देने के बदले में कुछ नही मिलता है लेकिन वेब 3.0 में अगर कोई user अपना data किसी कंपनी को देगा तो उसके बदले में user को टोकन मिलेगा।

FAQ – वेब 3.0 के बारे में अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

वेब 3.0 क्या है?

वेब 3.0 इंटरनेट का new version है।

वेब 3.0 कैसे काम करेगा?

वेब 3.0 Blockchain network पर काम करता है।

वेब 3.0 कब आएगा?

वेब 3.0 की शुरुआत 2020 में ही हो गया है।

वेब 3.0 में Blogging ख़त्म हो जायेगा?

नहीं , क्योंकि वेब 3.0 में भी लोगो को जानकारी चाहिए होगी इसलिए blogging ख़त्म नहीं होगी।

Conclusion / निष्कर्ष – What is Web 3.0 in hindi?

दोस्तों मुझे उमीद है की इस आर्टिकल “What is Web 3.0 in hindi” को पढ़ने के बाद आपको वेब 3.0 की पूरी जानकारी समझ में आगया होगा जिसमे आपने जाना की वेब 1.0 क्या है, वेब 2.0 क्या है और वेब 3.0 क्या है? साथ में आपने ये भी जाना की वेब 3.0 किस प्रकार इंटरनेट को पूरी तरह बदल देगा और वेब 3.0 के फायदे और नुकसान।

वैसे तो मैं इस आर्टिकल “What is Web 3.0 in hindi” में सब कुछ सही सही और सरल भाषा में समझाने की कोशिश किया हूँ फीर भी आपको लगे की इस आर्टिकल में कुछ छुट गया है या कुछ त्रुटी है तो आप मुझे कमेंट करके बता सकते हैं, मैं उस त्रुटी को जल्द से जल्द सही करने की कोशिश करूँगा।

अगर इस आर्टिकल “What is Web 3.0 in hindi” को पढने के बाद आपके मन में कोई प्रश्न आया है या आप डिजिटल मार्केटिंग और online make money से related मुझसे कुछ पूछना चाहते हैं तो आप मुझे कमेंट कर सकते हैं या फीर मेरे ब्लॉग के Contact Us page में जाकर मुझे contact कर सकते हैं। इस आर्टिकल “What is Web 3.0 in hindi” को पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।  

इस आर्टिकल What is Web 3.0 in hindi को पढ़ने के बाद ये जानकारी भी पढें

घर बैठे Online पैसे कैसे कमाये?

Facebook से पैसे कैसे कमाये?

Mobile से Blogging कैसे करे?

YouTube से पैसे कैसे कमाये? पूरी जानकारी हिंदी में

Affiliate marketing क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में

Social media marketing kya hai?

Digital marketing क्या है?

Email marketing kya hai?

Leave a Comment